अस्वस्थ होने पर स्वयं औषधि न ले, डॉक्टर के पर्चे के बिना दवा बेचने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी: सत्येन्द्र जैन

0

लगातार डेंगू के बढ़ते क्रम को देखते हुए, बुधवार को दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येन्द्र जैन ने कहा की मरीज़ अस्वस्थ होने पर स्वयं दवाई न लें और डॉकटरों की पर्चे के बगैर दवाई बेचने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी.

बुधवार को दिल्ली में एक प्रेस कांफ्रेंस को सम्बोधित करते हुए उन्होंने कहा, “मैं जनता को बताना चाहता हूँ, कृपया आप अस्वस्थ होने पर स्वयं औषधि न ले। डॉक्टर पर अस्पताल में भर्ती करने के लिए किसी भी तरह का कोई भी दबाव नहीं डाला जाएगा। डॉक्टर के पर्चे के बिना नहीं बेचीं जाएगी और जिन्होंने बेचीं उन दवा की दुकानों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।”

सत्येन्द्र जैन ने कहा कि प्राइवेट अस्पतालों में प्लेटलेट्स टेस्ट में अधिकतम 50 रुपये तक का खर्च होंगा और डेंगू टेस्ट दर में 600 रुपये का अधिकतम खर्च होगा। जबकि दिल्ली सरकार के अस्पतालों में डेंगू के लिए नि: शुल्क परीक्षण का आयोजन जारी रहेगा। उन्होंने बताया कि निजी अस्पताल में तय राशि से जड़ा चार्ज नहीं कर सकते हैं।”

उनका कहना था, “निजी अस्पतालों द्वारा मरीजों के लिए अतिरिक्त बेड के लिए सबसे कम प्रभारी चार्ज किया जाएगा। ”

इससे पहले भी सत्येंद्र जैन ने रविवार दोपहर को संजय गांधी अस्पताल का औचक निरीक्षण किया था। दिल्ली में पिछले दिनों एक सात वर्षीय बच्चे की डेंगू से हुए मौत ने सरकार को भी सजग कर दिया है। पिछले दिनों एक बच्चे की डेंगू से इस कारण मौत हो गई क्योंकि बच्चे को समय रहते अस्पताल में भर्ती नहीं किया गया। इस कारण जब तक बच्चे को दिल्ली के ही बत्रा अस्पताल ले जाया गया बच्चे की स्थिति और खराब हो गई और उसकी मौत हो गई।

यही नहीं सरकार पर इस हादसे का इनता असर हुआ है कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने यहां तक कहा दिया था कि उन दोषी अस्पताल के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी जिन्होंने 7 साल के बच्चे को अपने यहां भर्ती करने से मना कर दिया था। और उसके बाद केजरीवाल ने अस्पताल में एक दौरा भी लगाया था।

LEAVE A REPLY