कैलिफोर्निया में गोलीबारी से 14 की मौत, 17 घायल

0

अमेरिका के कैलिफोर्निया राज्य के सैन बर्नारडिनो में विकलांगों के सामाजिक सेवा केंद्र में संदिग्ध हमलावरों द्वारा की गई गोलीबारी में 14 लोगों की मौत हो गई और 17 घायल हो गए।

पुलिस ने दो संदिग्ध हमलावरों को मार गिराया है, जिसमें एक महिला और पुरुष शामिल हैं, जबकि एक अन्य हमलावर फरार बताया जा रहा है।

सैन बर्नारडिनो पुलिस प्रमुख जैरड बर्गुआन ने संवाददाता सम्मेलन में बताया कि पुलिस ने स्थानीय समयानुसार पूर्वाह्न लगभग 11 बजे इनलैंड रीजनल सेंटर की इमारत से विस्फोटक उपकरण बरामद किया है। इसी इमारत में गोलीबारी की घटना को अंजाम दिया गया।

मृतक हमलावरों में एक महिला और पुरुष शामिल हैं। दोनों के ही पास राइफल और पिस्तौल थी। हमलावरों ने वारदात के बाद फरार होने के लिए जिस काले रंग की एसयूवी का इस्तेमाल किया वह पुलिस ने कई घंटे बाद बरामद की। पुलिस द्वारा हमलावरों का पीछा करने पर उन्होंने पुलिस पर गोलीबारी की। इस मुठभेड़ में दोनों हमलावरों की मौत हो गई।

पुलिस के मुताबिक, गोलीबारी में घायल हुए पांच लोगों को इलाज के लिए लोमा लिंडा चिकित्सा केंद्र ले जाया गया, जिसके बाद दोपहर में इस चिकित्सा केंद्र को बम से उड़ाने की धमकी मिली।

अस्पताल की सार्वजनिक सूचना अधिकारी ब्रायना पैस्टिनो ने कहा कि पांचों पीड़ितों का अभी भी अस्पताल में इलाज चल रहा है, जिसमें से दो की हालत गंभीर लेकिन स्थिर है। अन्य दो की हालत में सुधार हुआ है और एक सामान्य है।

एफबीआई के सहायक निदेशक डेविड होडिच ने कहा कि वह अभी तक स्पष्ट रूप से नहीं कह सकते कि यह एक आतंकवादी हमला है या नहीं। इस दिशा में अभी और साक्ष्य इकट्ठा करने की जरूरत है।

इस कार्रवाई के दौरान एक पुलिसकर्मी को भी हल्की चोटें आई हैं।

पुलिस का कहना है कि हमलावार पूरी तैयारी के साथ आए थे। उनके पास लंबी-लंबी बंदूके थी, उन्होंने मास्क पहने हुए थे और सुरक्षा के लिए कवच भी लगाया हुआ था। वह इमारत के कॉन्फ्रेंस कक्ष में दाखिल हुए और अंधाधुंध गोलीबारी शुरू कर दी।

इस घटना के दौरान इमारत में कई हजार लोग मौजूद थे।

हमलावरों की पहचान और उनके मकसद के बारे में अभी कुछ पता नहीं चल पाया है, जांच चल रही है।

राष्ट्रपति बराक ओबामा को इस घटना की जानकारी दे दी गई है।

ओबामा ने घटना पर खेद जताते हुए कहा, “हमें यह नहीं सोचना चाहिए कि यह घटना रोजमर्रा की तरह होने वाली घटनाओं जैसी ही है क्योंकि अन्य देशों की तुलना में यहां इस तरह की घटनाएं बहुत तेजी से बढ़ी हैं।”

ओबामा ने पिछले शुक्रवार को कोलोराडो में हुई गोलीबारी की घटना के बाद कड़े शस्त्र नियंत्रण कानून का आह्वान किया था।

LEAVE A REPLY