शैक्षणिक योग्यता के मामले में आप विधायक को अदालत ने बरी किया

0

दिल्ली की एक अदालत ने आप आदमी पार्टी की विधायक भावना गौड़ को अपने चुनावी हलफनामे में अपनी शैक्षणिक योग्यता के बारे में कथित तौर पर गलत ब्यौरा देने के मामले में बरी कर दिया है।

पीटीआइ भाषा के अनुसार अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश विकास धुल ने भावना की ओर से दायर याचिका पर आदेश पारित किया।

Also Read:  सेरेना विलियम्स ने जीता 23वां ग्रैंडस्लैम खिताब, ऑस्ट्रेलिया ओपन 2017 में वीनस को दी करारी शिकस्त

इससे पहले उनके जमानत आवेदन को मजिस्ट्रेटी अदालत ने खारिज कर दिया था। बाद में उन्होंने सत्र अदालत का रूख किया था।

भावना के खिलाफ जन प्रतिनिधित्व कानून की धारा 125ए के तहत शिकायत दर्ज कराई गई थी।

Also Read:  भाजपा के ख़िलाफ़ आर्टिकल लिखने पर पत्रकार को कोर्ट ने दी 6 महीने की सजा

शिकायतकर्ता समरेंद्र नाथ वर्मा ने कहा कि वह अदालत के फैसले के खिलाफ उच्च न्यायालय का रूख करेंगे।

भावना गौर का मामला पूर्व क़ानून मंत्री जीतेन्द्र सिंह तोमर के बाद फ़र्ज़ी डिग्री का दूसरा बड़ा मामला था जिसके ज़रिये आम आदमी पार्टी के राजनितिक विरोधियों ने मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल पर निशाना साधने की कोशिश की थी।

Also Read:  गोरक्षकों की हिंसा पर सुप्रीम कोर्ट सख्त, हर जिले में नोडल अफसर तैनात करने के दिए निर्देश

शिकायतकर्ता ने आरोप लगाया था कि गौर ने 2013 के असेंबली चुनाव में अपनी शैक्षणिक योग्यता 12वीं बतायी थी जबकि 2015 के चुनाव में उन्हों कहा था  वो BA और B.Ed पास हैं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here