शिव सेना के विरोध के बाद बीसीसीआई ने पीसीबी के साथ बैठक रद्द की

0

शिव सेना के कार्यकर्ताओं के उग्र विरोध के बाद भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के सचिव अनुराग ठाकुर ने अटकलों पर विराम लगाते हुए सोमवार को द्विपक्षीय श्रृंखला के लिए पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) के साथ बोर्ड अध्यक्ष शशांक मनोहर की बातचीत रद्द होने की पुष्टि कर दी। गौरतलब है कि पीसीबी अध्यक्ष शहरयार खान सोमवार को नवनियुक्त बीसीसीआई के अध्यक्ष मनोहर से दोनों देशों के बीच क्रिकेट श्रृंखला शुरू किए जाने के लिए बातचीत करने वाले थे, लेकिन शिव सेना के करीब 70 कार्यकताओं ने मनोहर के कायार्लय में घुसकर जमकर इस बैठक का विरोध किया।

शिव सेना द्वारा बैठक का विरोध किए जाने के बाद पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बीसीसीआई को पीसीबी के साथ कोलकाता में बैठक किए जाने का प्रस्ताव दिया है।

Also Read:  शर्मनाक: सुकमा हमले में घायल जवान के घर बैंड-बाजा लेकर पहुंचीं BJP विधायक, मां ने डांटकर बैरंग लौटाया

इस बीच ऐसी अफवाहें भी उड़ीं कि पीसीबी के साथ यह बैठक राष्ट्रीय राजधानी नई दिल्ली में हो सकती है, जहां सोमवार को ही बीसीसीआई की अखिल भारतीय सीनियर चयन समिति दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ शेष श्रृंखला के लिए भारतीय टीम का चयन करने वाली थी।

अनुराग ने संवाददाताओं से कहा, “आधिकारिक तौर पर दिल्ली में कोई बैठक नहीं होने वाली। अगर बातचीत होती है तो वह मुंबई स्थित बीसीसीआई के मुख्यालय में ही होगी। बीसीसीआई और पीसीबी के बीच कुछ गंभीर मतभेद हैं और पीसीबी अध्यक्ष उन मुद्दों पर बातचीत करने के लिए बीसीसीआई अध्यक्ष से मिलना चाहते थे, लेकिन अभी यह बैठक रद्द कर दी गई है।”

Congress advt 2

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सांसद ठाकुर ने आगे कहा, “मैं इस उग्र विरोध प्रदर्शन की निंदा करता हूं, क्योंकि कोई भी इस तरह बीसीसीआई कार्यालय में जबरन घुसकर बैठक रद्द करने के लिए बाध्य नहीं कर सकता। लोकतंत्र में आपको विरोध प्रकट करने का अधिकार है, लेकिन आप किसी के घर, कार्यालय या मुख्यालय में जबरन घुसपैठ नहीं कर सकते।”

Also Read:  फेसबुक के CEO मार्क जकरबर्ग की बहन के साथ फ्लाइट में हुई छेड़खानी, सोशल मीडिया पर शेयर की आपबीती

इससे पहले इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के चैयरमेन राजीव शुक्ला ने भी शिव सेना के विरोध प्रदर्शन की निंदा की।

बीसीसीआई कार्यालय के बाहर काले झंडे लहराते हुए सेना के कार्यकर्ताओं ने ‘पाकिस्तान मुर्दाबाद’ और ‘शशांक मनोहर मुर्दाबाद’ के नारे लगाए। पुलिस ने बाद में 20 से अधिक प्रदर्शकारियों को हिरासत में ले लिया।

एक प्रदर्शनकारी ने कहा कि जब तक पाकिस्तान भारतीय जवानों और सीमा पर रह रहे नागरिकों को मारना बंद नहीं करेगा, तब तक शिव सेना दोनों देशों के बीच किसी भी तरह के क्रिकेट संबंधों को सफल नहीं होने देगी।

Also Read:  इलाहाबाद HC ने योगी सरकार को लगाई लताड़, कहा- नॉनवेज खाने से नहीं रोक सकते, बूचड़खानों को जारी करे लाइसेंस

शिव सेना सांसद और सेना के मुखपत्र सामना के कार्यकारी संपादक संजय राउत ने कहा, “यह कोई घेराव नहीं था लेकिन मनोहर से पाकिस्तान के अपने समकक्ष खान के साथ बैठक को रद्द करने के लिए एक आग्रह था।”

पाकिस्तान के खिलाफ शिव सेना का यह दूसरा बड़ा प्रदर्शन है।

इससे पहले, मुंबई और पुणे में होने वाले पाकिस्तान के लोकप्रिय गजल गायक गुलाम अली के कार्यक्रम को शिव सेना के विरोध प्रदर्शन के कारण रद्द कर दिया गया था।

पिछले सोमवार को पाकिस्तान के पूर्व विदेश मंत्री खुर्शीद महमूद कसूरी की पुस्तक का लोकार्पण करने जा रहे दिग्गज पत्रकार सुधीर कुलकर्णी पर सेना के कार्यकर्ताओं ने काली स्याही फेंकी थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here