शाही इमाम नेताओं के यहां से ब्रीफकेस लाना छोड़ दे: आज़म खां

0
आज़म खां ने एक बार फिर एक ही तीर से कई निशाने लगा दिए है। इस बार उन्होंने अपने निशाने पर लिया मानव विकास संसाधन मंत्री स्मृति ईरानी, जया प्रदा, साक्षी महाराज और शाही इमाम को।
उत्तर प्रदेश के खुर्जा में एक प्ले स्कूल के उद्घाटन के अवसर पर बोलते हुए आजम खां ने  सुप्रीम कोर्ट में अलीगढ़ मुस्लिम यूनीवर्सिटी को अल्पसंख्यक संस्थान मानने से केन्द्र के इंकार पर  मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी को व्यंगात्मक लहजे में ‘सुंदर महिला’ कहकर संबोधित करते हुए कहा कि ए.एम.यू., जामिया, और जौहर यूनीवर्सिटी उन्हें नहीं देंगे।

आजम ने कहा, ‘हैं 10वीं पास, लेकिन 12वीं फेल ये मंत्री साहिबा मुसलमानों से उनके विश्वविद्यालय छीनने की साजिश रच रही हैं। उन्हें ए.एम.यू. के बारे में ऐसी राय रखने और उसमें दखल देने से पहले सोचना चाहिए। इस मामले में जरूरी है कि प्रधानमंत्री हस्तक्षेप करें ।’

Also Read:  प्रधानमंत्री गाय को विवादित होने से बचाएं : आजम खां

आजम खान ने कहा कि अलीगढ़ मुस्लिम यूनीवर्सिटी किसी की खैरात नहीं है। ये लाखों-करोड़ों मुसलमानों के जज्बातों की कब्रों पर तामीर है। इसे बर्बाद नहीं होने देंगे। ये चुनौती नही है, लेकिन चुनौती जैसा जरूर है।

Also Read:  नरगिस फाखरी का ये पुराना वीडियो हुआ वायरल, देख कर चौंक जाएंगे आप

उन्होंने कहा, ‘हम ए.एम.यू. नहीं देंगे, हम जामिया नहीं देंगे। बीजेपी और आर.एस.एस. अच्छी तरह से समझ लें हम जौहर यूनीवर्सिटी भी नहीं देंगे. हिन्दुस्तान आर.एस.एस. के कानून से नहीं, संविधान से चलेगा। अपने अक्लियतों पर कायम रहने का हक संविधान से सबको हासिल है. तालीमी इदारे कायम करने का हक भी संविधान हमें देता है ।’

वहीं दूसरी और जया प्रदा के बारें में बोलते हुए उन्होंने कहा कि रामपुर में आयी आम्रपाली की नाचने वाली भी एम.पी. बन गयी लेकिन हम कमनसीब रामपुर वाले उनका एक ठुमका भी न देख पाएं।

वहीं उन्होंने फिर से साक्षी महाराज पर अपनी शिष्या के बलत्कार का आरोप लगाते हुए कहा कि बी.जे.पी. ने सुप्रीम कोर्ट से जमानत पाए आरोपी की टिकट दिया और एम.पी. बनवा दिया। आगे उन्होंने शाही जामा मस्जिद के इमाम बुखारी को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि वह नेताओं के यहां से ब्रीफकेस लाना छोड़ दे और इमामत करे; अगर सियासत का इतना ही शौक है तो रामपुर से हमारे सामने पर्चा भरे।

Also Read:  दिल्ली सरकार ने नोटबंदी के कारण गरीबों और बेघरों की मदद के लिए 10 रैन बसेरों में मुफ्त भोजन देना शुरू किया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here