मैनपुरी में सांप्रदायिक हिंसा के बाद 21 लोग हिरासत में

0

मैनपुरी ज़िले के करहल- नगरिया इलाके में हुई हिंसक घटना के बाद अब तक 21 लोग हिरासत में लिए जा चुके हैं ।

मैनपुरी के जिलाधिकारी चंद्रपाल सिंह ने कहा कि परिस्थिति अब काबू में है। उन्होंने कहा की बाकी लोगों की तलाश जारी है।

मैनपुरी मुलायम सिंह यादव के पौत्र तेज प्रताप का संसदीय क्षेत्र है।

दादरी की तरह करहल- नगरिया में भी ‘गाय काटे जाने’ की अफवाह फैलने पर एक संप्रदाय विशेष के दो युवकों की जमकर पिटाई की गई थी। दोनों युवक अस्पताल में भर्ती हैं।

Also Read:  पहला टेस्ट : कड़ी सुरक्षा के दावों के बीच ग्रीन पार्क की पिच तक पहुंचा संदिग्ध व्यक्ति

घटना करहल-नगरिया इलाके के कुरैशियान मोहल्ले की है। हमलावरों का आरोप है कि यहां दो युवक देवी रोड के हैंडपंप के पास एक गाय को काट रहे थे। जिसे सुनने के बाद एक समुदाय के लोग ने दोनों युवकों को जमकर पीट दिया, जिसके बाद बवाल शुरू हो गया।

इसके बाद घटनास्थल पर पहुंची पुलिस ने दोनों युवकों को भीड़ से छुड़ाकर अस्पताल भिजवाया। इस पर उग्र भीड़ ने पुलिस की एक जीप में तोड़फोड़ की और उसे आग के हवाले कर दिया।

Also Read:  दिल्ली मेट्रो में महिला म्यूजिक सिस्टम के अंदर छिपा कर ले जा रही थी पिस्तौल, पुलिस ने लिया हिरासत में

इसके अलावा इलाके की कई दुकानें भी जला दीं। भीड़ को काबू में करने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज किया जिसपर लोग और भड़क गए और पथराव शुरू कर दिया। पथराव के जवाब में पुलिस ने फायरिंग की।

इलाके में तनाव को देखते हुए भारी पुलिस बल तैनात किया गया है।

इस मामले पर करहल के एसडीएम विजय प्रताप ने कहा कि घटना की जांच के आदेश दे दिए गए हैं। उन्होंने कहा, “जांच के बाद ही पता चलेगा कि इलाके में गाय काटी गई थी या पहले से मरे हुए जानवर की खाल निकाली जा रही थी।”

Also Read:  एबीवीपी के नेता पर दर्ज़ हुआ महिला उत्पीड़न का केस

मैनपुरी के जिलाधिकारी चंद्रपाल सिंह ने कहा कि अब तक 21 लोग हिरासत में लिए जा चुके हैं।

दादरी में 29 सितंबर को हुई 50-वर्षीय अखलाक की गो मांस खाने और रखने की अफवाह के बाद हत्या  कर दी गयी थी ।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here