भारत-पाक NSA वार्ता महाधोखाः कांग्रेस

0

बैंकॉक में रविवार को हुए भारत-पाकिस्तान NSA (राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार) स्तर की बातचीत पर घरेलू सियासत गरमा गई है। कांग्रेस ने इसे देश के साथ महाधोखा बताया है।

कांग्रेस प्रवक्ता मनीष तिवारी ने कहा कि बैंकॉक में हुई NSA लेवल की बातचीत राष्ट्रहित के साथ सबसे बड़ा धोखा है। उन्होंने कहा कि सितंबर 2015 से दिसंबर 2015 के बीच हालात में ऐसा क्या बदलाव आया है जो बातचीत दोबारा शुरू कर दी गई और वह भी दोनों देशों से ही दूर किसी अन्य देश में?

Also Read:  चूरन छाप नोटों को लेकर मोदी सरकार का सोशल मीडिया पर बना मजाक

इसके साथ ही कांग्रेस पार्टी प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि मोदी सरकार ने इस बातचीत के लिए संसद को भी भरोसे में नहीं लिया। मई 2014 से ही रुख बदलता रहा है। ताजा बातचीत से न तो भरोसा बनता है और न ही उम्मीद।

वहीं कांग्रेस के आरोप पर केंद्रीय मंत्री राजीव प्रताप रूडी ने कहा कि विदेश मंत्री सुषमा स्वराज मंगलवार को इस्लामाबाद जा रही हैं और वह लौटकर जब आएंगी तो बयान देंगी।

Also Read:  उधम सिंह के परपोते को चपरासी की नौकरी पाने के लिए करना पड़ रहा है संघर्ष

केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू ने कहा कि संसद सत्र चल रहा है। बाद में जब भी विदेश मंत्रालय को उचित समय लगेगा, वह इस पर जवाब देगा।

विपक्ष के इसे महाधोखा बताने पर उन्होंने कहा कि कांग्रेस को ऐसे मुद्दों से निपटने का ज्यादा अनुभव है। कांग्रेस नेताओं को इस पर राजनीतिक बयानबाजी नहीं करनी चाहिए।

इसके साथ ही बीजेपी की सहयोगी शिवसेना ने भी गोपनीय रूप से हुई इस वार्ता पर सवाल उठाए हैं। शिवसेना के राज्यसभा सांसद और राष्ट्रीय प्रवक्ता संजय राउत ने कहा कि तीसरे मुल्क में जाकर बात होती है, उसी से पता चलता है कि दोनों देशों में कैसे रिश्ते हैं। उन्होंने कहा कि शिवसेना पाकिस्तान से किसी भी तरह के रिश्ते रखने में विश्वास नहीं करती। अगर आप पाकिस्तान स्पॉन्सर्ड आतंकवाद पर बात कर रहे हो तो देश को भरोसे में लेना चाहिए कि क्या बातचीत हो रही है।

Also Read:  संघ मुक्त भारत का सपना अच्छा है लेकिन मुलायम जैसे नेताओं के रहते सम्भव नही है

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here