#MeToo: यौन शोषण का आरोप लगने के बाद साजिद खान को छोड़नी पड़ी ‘हाउसफुल 4’ के निर्देशक की कमान, अक्षय कुमार ने रुकवाई फिल्म की शूटिंग

0

देश भर में चल रहे ‘मी टू’ अभियान के तहत हर रोज चौंकाने वाले खुलासे हो रहे हैं l देश में जारी ‘मी टू’ अभियान की लहर गुरुवार (11 अक्टूबर) को भी जारी रही और बॉलीवुड के शोमैन सुभाई घई, लेखक-निर्देशक पीयूष मिश्रा, फिल्ममेकर साजिद खान और लेखक सुहेल सेठ भी निशाने पर आए। कामकाज की जगह पर होने वाले यौन शोषण के खिलाफ चल रही इस मुहिम का गुरुवार को भी कई लोगों ने समर्थन किया, इसके साथ ही केंद्रीय मंत्री स्मृति ने अपने साथी मंत्री एम जे अकबर से उनपर लगे यौन शोषण के आरोपों पर चुप्पी तोड़ने को कहा।

इस बीच अब बॉलीवुड के तमाम कलाकार और फिल्मकार ‘मी टू’ अभियान से जुड़ रहे हैं और महिलाओं के यौन शोषण के खिलाफ प्रतिबद्धता दिखा रहे हैं। इसी क्रम में अभिनेता आमिर खान के बाद अब अक्षय कुमार ने अहम कदम उठाया है। अक्षय कुमार ने फिल्म ‘हाउसफुल 4’ के निर्देशक साजिद खान के खिलाफ यौन उत्पीड़न के आरोप लगने के बाद एक कड़ा फैसला किया है।

अक्षय ने ‘हाउसफुल 4’ के निर्माता से आग्रह किया है कि इस मामले में (साजिद खान के) जांच पूरी होने तक फिल्म की शूटिंग को रद्द कर दिया जाए। उन्होंने इसकी जानकारी ट्विटर पर साझा की है। फिल्ममेकर साजिद खान पर पत्रकार और अभिनेत्री सहित तीन महिलाओं द्वारा यौन उत्पीड़न के गंभीर आरोप लगाए गए हैं। उधर, खुद साजिद खान ने भी ट्वीट कर हाउसफुल-4 के निर्देशक की कमान छोड़ने की पुष्टि की है।

अक्षय ने लिखा, ”मैं कल रात ही देश वापस लौटा हूं। इन सब खबरों के बारे में पढ़कर बहुत बुरा लगा। मैंने निर्माताओं से गुजारिश की है कि वो फिल्म ‘हाउसफुल 4’ की शूटिंग तब तक के लिए रोक दें जब तक कि इस मामले की जांच पूरी नहीं हो जाती। ये एक ऐसा मामला है जिसपर शख्त कार्रवाई होनी चाहिए। मैं किसी भी ऐसे व्यक्ति के साथ काम नहीं कर सकता जो किसी भी प्रकार के शोषण में शामिल हो। पीड़ितों को न्याय मिलना चाहिए।”

उधर, यौन शोषण के आरोपों के बाद नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए साजिद खान ने हाउसफुल 4 के निर्देशन से खुद को पीछे हटा लिया है। साजिद ने ट्वीट कर कहा है कि मेरे खिलाफ आरोप लगाए गए हैं। मेरे खिलाफ आरोपों के चलते मेरे परिवार, मेरे प्रोड्यूसर और मेरी फिल्म ‘हाउसफुल 4’ के स्टार्स पर दबाव आ गया है। मैं नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए हाउसफुल 4 के निर्देशन की जिम्मेदारी छोड़ता हूूं, जब तक मैं अपने ऊपर लगे आरोपों को गलत साबित कर सच को सामने ना ला दूं। उन्होंने मीडिया के दोस्तों से अपील है कि सच के सामने आने तक वह किसी फैसले पर पहुंचने से बचें।

आपको बता दें कि अक्षय कुमार से पहले मशहूर अभिनेता आमिर खान भी गुलशन कुमार की बायॉपिक ‘मुगल’ में काम करने से इनकार कर चुके हैं। इस फिल्म के डायरेक्टर सुभाष कपूर पर यौन उत्पीड़न का गंभीर आरोप लगने के बाद आमिर खान ने यह फैसला लिया था। कपूर पर एक साथी महिला कलाकार ने यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था। मामला फिलहाल अदालत में है।

साजिद पर तीन महिलाओं ने लगाए हैं आरोप

आपको बता दें कि फिल्ममेकर साजिद खान पर तीन महिलाओं ने यौन उत्पीड़न के गंभीर आरोप लगाए हैं। पत्रकार करिश्मा उपाध्याय ने साजिद खान पर एक इंटरव्यू के दौरान यौन शोषण का आरोप लगाया था। करिश्मा ने ट्विट करके भी इस बारे में अपनी बात सामने रखी है। इसके बाद अभिनेत्री सलोनी चोपड़ा ने भी साजिद खान पर यौन उत्पीड़न के गंभीर आरोप लगाए हैं।

सलोनी ने लिखा है, ”उन्होंने पूछा क्या आप Masturbate करती हैं, अगर हां तो दिन में कितनी बार? क्या मुझे किसी ने सेक्सुअली अब्यूज किया है? क्या मैंने ब्रेस्ट जॉब कराई है? उन्होंने इस दौरान ये भी बताया कि कैसे सेक्स का मानसिक कनेक्शन क्या है।” इनके अलावा अभिनेत्री रैचन वाइट ने भी साजिद पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं।

‘मी टू’ अभियान ने पकड़ा जोर

आपको बता दें कि भारत में जारी ‘मी टू’ अभियान (यौन उत्पीड़न के खिलाफ अभियान) तूल पकड़ता जा रहा है। कई अन्य महिलाएं अपने अनुभवों को सार्वजनिक तौर पर शेयर कर रही हैं। अभिनेत्री तनुश्री दत्ता द्वारा मशहूर अभिनेता नाना पाटेकर पर यौन शोषण का आरोप लगाए जाने के बाद अब अलग-अलग इंडस्ट्री की बाकी हस्तियों ने भी अपने साथ हुए यौन दुर्व्यवहार के खिलाफ आवाज उठानी शुरू कर दी है।

नाना पाटेकर के बाद जहां डायरेक्टर विकास बहल, मशहूर सिंगर कैलाश खेर, प्रसिद्ध लेखक चेतन भगत, अभिनेता रजत कपूर, मॉडल जुल्फी सैयद, फिल्मों और टीवी जगत के ‘संस्कारी बाबू’ यानी अभिनेता आलोक नाथ सहित ‘हिंदुस्तान टाइम्स’ (एचटी) के ब्यूरो प्रमुख और राजनीतिक संपादक प्रशांत झा, रघु दीक्षित, कमेंटेटर सुहेल सेठ और महिला कॉमिक स्टार अदिति मित्तल, बॉलीवुड के शोमैन सुभाई घई, फिल्ममेकर साजिद खान और लेखक-निर्देशक पीयूष मिश्रा भी ‘मी टू’ की चपेट में आए हैं, जिनपर यौन उत्पीड़न, बदसलूकी, गलत तरीके से छूने जैसे आरोप लगे हैं।

फिल्म इंडस्ट्री से ‘मी टू’ अभियान की शुरुआत होने के बाद इसकी चपेट में मीडिया जगत भी आ गया है और इसकी लपटें मोदी सरकार के एक मंत्री को अपने लपेटे में ले रही हैं। अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, अपने समय के मशहूर संपादक व वर्तमान में केंद्रीय विदेश राज्य मंत्री एम.जे. अकबर पर 6 वरिष्ठ महिला पत्रकारों ने पूर्व संपादक और विदेश राज्य मंत्री एमजे अकबर पर यौन उत्पीड़न और अनुचित व्यवहार के आरोप लगाए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here