गुजरात विश्वविद्यालय ने पीएम नरेंद्र मोदी की शैक्षिक योग्यता पर आरटीआई अनुरोध को खारिज किया

0

गुजरात विश्वविद्यालय ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की शैक्षिक योग्यता पर एक आरटीआई अनुरोध को अस्वीकार कर दिया है।

अहमदाबाद स्थित आरटीआई कार्यकर्ताओं ने 1981 और 1984 के बीच मास्टर्स डिग्री के छात्रों का विवरण प्रस्तुत करने के लिए अनुरोध किया था।

GU_RTI_Question

 

GU_Reply - Copy

यह अनुरोध उन सभी छात्रों के लिए था जिन्होंने नियमित पाठ्यक्रम या करास्पोंडेंस के माध्यम से मास्टर्स ऑफ़ आर्ट्स की शिक्षा अंग्रेजी और गुजराती दोनों ही भाषाओं में की थी।

Also Read:  JKLF प्रमुख यसीन मलिक ने मोदी पर साधा निशाना, कहा मोदी घाटी के लोगों को हथियार उठाने पर मजबूर कर रहे हैं

इस अनुरोध का जवाब विश्वविद्यालय ने गुजराती में सिर्फ एक वाकया में कुछ यूँ दिया ,”2005 के आरटीआई अधिनियम के तहत, इस जानकारी को सार्वजनिक नहीं किया जा सकता। ”

Also Read:  पीएम की विदेशी उड़ानों का नहीं बनता कोई बिल- वायुसेना

जबकि आरटीआई एक्टिविस्ट जिसने यह RTI अनुरोध किया था jantakareporter.com को बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बताते हैं कि उन्होंने वहां से मास्टर्स की डिग्री हासिल की है,

आरटीआई एक्टिविस्ट ने कहा, “इसीलिए मैंने उन तीन सालों का विवरण माँगा था, मैंने जान बुझ कर प्रधान मंत्री मोदी के बारे में विशेष जानकारी नहीं मांगी थी क्यूंकि मुझे डर था कि ऐसे अनुरोध को वो सिरे से ही ख़ारिज कर देते,”

Also Read:  प्रधानमंत्री का भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद के 87 वें स्थापना दिवस समारोह में संबोधन

इस मामले को लेकर पहले भी jantakareporter.com ने मोदी की शैक्षिक योग्यता की पुष्टि करने की मांग की थी जिसे पीएमओ और अपील प्राधिकारी ने खारिज कर दिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here