गीता की स्वदेश वापसी के लिए हम प्रतिबद्ध: पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय

0
>

पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय की ओर से कहा गया है कि वह 13 साल पहले गलती से पाकिस्तानी सीमा में दाखिल हुई भारतीय युवती गीता की स्वदेश वापसी के लिए भारतीय उच्चायोग को पूरा सहयोग कर रहा है।

एक समाचार-पत्र ‘डॉन’ की वेबसाइट के अनुसार, विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि गीता को अपने जन्मस्थान की यात्रा के लिए अनुमति लेने हेतु कोई शर्त नहीं रखी गई है। बयान में कहा गया कि गीता के लिए यात्रा संबंधी कागजात तैयार करने की जिम्मेदारी भारत की है।

Also Read:  'अतुल्य भारत' कैंपेन में आमिर ख़ान का स्थान लेंगे पीएम मोदी

भारत की रहने वाली गीता (21) पाकिस्तान रेंजर्स को 13 साल पहले वाघा सीमा पार कर पाकिस्तान के लाहौर शहर पहुंची समझौता एक्सप्रेस में अकेली बैठी मिली थी।

उसे बाद में पाकिस्तान की सबसे बड़ी धर्मार्थ संस्था एधी फाउंडेशन ले जाया गया। गीता की देखरेख अब भी यही संस्था कर रही है।

Also Read:  अपशकुन के डर से 350 करोड़ का सैफाबाद पैलेस गिराएंगे तेलंगाना मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव

पाकिस्तान में भारत के उच्चायुक्त टी.सी.ए. राघवन पिछले माह गीता से मिलने एधी फाउंडेशन गए थे और उसके लिए भारत से कुछ तोहफे भी ले गए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here