ए आर रहमान ने किया प्रोफेट फिल्म का बचाव

0

संगीतकार ए आर रहमान ने प्रसिद्ध ईरानी फिल्मकार माजिद मजीदी की फिल्म पैगंबर मुहम्मद पर काम करने के लिए उनके खिलाफ जारी किये गए फतवे पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की है।

उनका कहना है कि वह इस फिल्म में संगीत की रचना “अच्छे विश्वास के साथ कर रहे हैं और किसी तरह के अपराध का कोई इरादा नहीं है”।

Also Read:  कारोबार करने की सुविधा में भारत को मिले निचले स्तर के बाद, अब राष्ट्रमंडल युवा सूची में भारत 133वें स्थान पर

ऑस्कर विजेता संगीतकार ने सोमवार को अपने फेसबुक पेज पर लिखा,”मैंने इस फिल्म मुहम्मद:भगवान के दूत, का निर्दर्शण या उत्पादन नहीं किया है। मैंने सिर्फ संगीत दिया है। फिल्म पर काम करने का.मेरा यह आध्यात्मिक अनुभव बहुत ही व्यक्तिगत है, और जिसे मैं साझा करना पसंद नहीं करूंगा।”

Also Read:  राष्ट्रवाद के बारे में क्या बोले मशहूर पत्रकार एम. जे. अकबर

CO7ZasyUwAAqO2b

Congress advt 2

उन्होंने लिखा,””मैं इस्लाम का विद्वान नहीं हूं। मैं मध्यम मार्ग का अनुसरण करता हूँ, भाग पारंपरिक और भाग बुद्धिवादी हूँ। मैं पश्चिमी और पूर्वी दुनिया में रहता हूँ। और सभी लोगों को प्यार करने की कोशिश करता हूँ बिना जाने कि वह क्या करते हैं।”

(Also read: Fatwa against Iranian filmmaker Majid Majidi and A R Rahman for making film on Prophet)

Also Read:  कैंसर के बावजूद ICSE परीक्षा में हासिल किए 95.8 फीसदी अंक

मुंबई स्थित सुन्नी मुस्लिम समूह, रजा अकादमी द्वारा पैगंबर मुहम्मद फिल्म पर काम करने के लिए रहमान और मजीदी के खिलाफ पिछले सप्ताह फतवा जारी किया गया था।

मुहम्मद: भगवान के दूत, ईरान की सबसे महंगी फिल्म,जो की इस महीने शिया इस्लामी गणराज्य में रिलीज़ की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here