आईएस के खिलाफ हमलों से सुरक्षित होगा ब्रिटेन: कैमरन

0

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री डेविड कैमरन ने कहा कि सीरिया में इस्लामिक स्टेट (आईएस) के खिलाफ हवाई हमलों से देश सुरक्षित बनेगा। इसका प्रतिकूल असर नहीं होगा और देश आतंकवादी हमलों का निशाना नहीं बनेगा।

प्रधानमंत्री कैमरन ने गुरुवार को ब्रिटिश संसद के निचले सदन कॉमन सभा में सांसदों से सीरिया में आईएस के खिलाफ ब्रिटिश सैन्य कार्रवाई की अपनी योजना को समर्थन देने की अपील करते हुए कहा कि ब्रिटेन पहले से ही आईएस के निशाने पर है और हमें इस वक्त आतंकवाद को जड़ से खत्म करने के लिए कार्रवाई करनी होगी।

Also Read:  दलितों ने की गोरक्षकों से सुरक्षा की मांग

कैमरन ने गुरुवार को सीरिया में ब्रिटिश हवाई हमलों की योजना से संबंधित दस्तावेज भी जारी किए, जिसमें उन्होंने लिखा है, “सीरिया और इराक में आईएस को हराने के लिए ठोस सैन्य रणनीति बनाई गई है। हमें यह उम्मीद नहीं करनी चाहिए कि यह जल्द ही होगा। इसके लिए धर्य व दृढ़ता की जरूरत है। हम अपने लक्ष्य में कामयाब हो सकते हैं।”

Also Read:  नोटबंदी से 3-5 लाख करोड़ का घोटाला आएगा सामने , कहीं आरबीआई ने एक ही नंबर के दो-दो नोट तो नहीं छाप दिए ? :बाबा रामदेव

ब्रिटेन की सबसे बड़ी विपक्षी लेबर पार्टी में हालांकि सीरिया में सैन्य हस्तक्षेप को लेकर मतभेद हैं। लेबर पार्टी के नेता कॉरबिन का जहां मानना है कि सीरिया व इराक में ब्रिटेन की सैन्य भागीदारी का देश पर प्रतिकूल असर पड़ सकता है, वहीं पूर्व प्रधानमंत्री टोनी ब्लेयर ने कैमरन के कदम को समर्थन देने की बात कही है।

Also Read:  खट्टर सरकार ने 'घूंघट' को बताया 'हरियाणा की शान', लोगों ने की आलोचना

उन्होंने लंदन में एक लाइव शो के दौरान कहा, “यह (आतंकवाद) 21वीं सदी की सबसे बड़ी सुरक्षा चुनौती है। इसे समाप्त करने में वक्त लगेगा। इसे विभिन्न स्तरों से समाप्त करना होगा।”

लेबर पार्टी के कुछ अन्य वरिष्ठ नेताओं का भी कहना है कि कॉरबिन के रुख से पार्टी में विद्रोह बढ़ सकता है और कई नेता इस्तीफा दे सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here