दिल्ली महिला आयोग ने दिल्ली सरकार के लेबर कमिश्नर को लिखा पत्र, पूछे कई सवाल

0

दिल्ली महिला आयोग ने प्लेसमेंट एजेंसियों के रेग्यूलेशन के लिए दिल्ली सरकार के लेबर कमिश्नर को पत्र लिखा है। पत्र में लेबर कमिश्नर से कई सवाल पूछे गए हैं जैसे कि अभी तक कितनी प्राइवेट प्लेसमेंट एजेंसियों का रजिस्ट्रेशन हुआ है, कितनी प्लेसमेंट एजेंसियों को लाइसेंस मिला है, इन सभी की जानकारी लेबर डिपार्टमेंट की वेबसाइट पर डाली गई है या नहीं और कितनी प्लेसमेंट एजेंसियों पर पेनल्टी लगाई गई है।

Also Read:  आज से दिल्ली के 50 पबों और रेस्त्राओं में नही मिलेगीं शराब

दिल्ली महिला आयोग ने कुछ दिन पहले जीबी रोड में नारी निकेतन का दौरा किया था जिसके बाद ह्यूमन  ट्रैफिकिंग में प्लेसमेंट एजेंसिस की भी भागीदारी सामने आई है।

mahila

15 सितंबर को दिल्ली के रघुवीर नगर में दिल्ली महिला आयोग व एनजीओ द्वारा प्लेसमेंट एजेंसी से बच्चो को बचाया गया था।

Also Read:  दिल्ली पुलिस के 6 कर्मी हुए बर्खास्त, कैदी को खरीदारी कराने ले जाने का आरोप

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालिवाल ने बताया कि दिल्ली सरकार के प्राइवेट प्लेसमेंट एजेंसी आर्डर 2014 के तहत लेबर मिनिस्ट्री और दिल्ली महिला आयोग को प्लेसमेंट एजेंसियों की मानिटरिंग करने का पूरा अधिकार है।

mahila 2

दिल्ली महिला आयोग ने लेबर मिनिस्टर गोपाल राय को पत्र लिखकर उनसे मिलने का समय मांगा है, ताकि प्राइवेट प्लेसमेंट एजेंसियों के रेग्यूलेशन पर मिलकर काम किया जा सके। इससे पहले प्लेसमेंट एजेंसियों को लेकर महिला आयोग में किसी भी तरीके का कोई भी काम नहीं किया गया था।

Also Read:  "क्या हमें सुरक्षित रखना लोकतंत्र की संस्थाओं का दायित्व नहीं है?" पत्रकार रवीश कुमार का सुप्रीम कोर्ट के CJI के नाम खुला खत

अब दिल्ली महिला आयोग द्वारा इस मिशन मोड के तहत इन प्लेसमेंट एजेंसियों की निगरानी की जाएगी और यदि किसी प्राइवेट प्लेसमेंट एजेंसी ने सैलरी नहीं दी है तो उसको भी महिला आयोग रिकवर कराएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here