बहुत हुआ महिला पर वार अब की बार “मोदी की पुलिस” की मार!!


अलका लाम्बा 

वाह री “मोदी की पुलिस”, कह रही है की मैंने उन्हें उनकी ड्यूटी करने से रोका, यानि मेरी सुरक्षा करने आये 6पुलिस वालों को मैंने ही अपने ऊपर होने वाले हमले को रोकने से रोका??

क्यों अपनी नाकामी को मुझ पर थोप रहे हो?? शर्म करो, तुम्हारे 6-6 के होते हुये भी एक महिला पर हमला हो जाता है…

अब तो पुलिस के होने ना होने से दिल्ली की महिलाओं को फर्क ही नहीं पड़ता, यहाँ पुलिस नहीं होती है वहाँ पर भी महिलाओं पर हमला होता है और जहाँ होती है वहाँ पर भी महिला पर हमला।

एक महिला पर हमला और उसी पर ही FIR भी ?? और हमलावार BJP के नेता के खिलाफ अब तक एक भी FIR या कार्यवाही क्यों नहीं??

तभी तो कहते हैं की यह दिल्ली की नहीं “मोदी की पुलिस” है। बहुत हुआ महिला पर वार अब की बार “मोदी की पुलिस” की मार!!

जय हिन्द!

The author is an Aam Aadmi Party’s MLA from Chandni Chowk. A version of this blog first appeared on Alka Lamba’s Facebook page.

NOTE: Views expressed are the author’s own. Janta Ka Reporter does not endorse any of the views, facts, incidents mentioned in this piece.


  1. Alka ji, please tell yourself if you didn’t do anything wrong in this incident before pointing this out to police. Being a MLA, you are expected to set good examples to people on how to react to situations. Showing your FIT of anger is not something that sets the right example to people.
    Would you recommend citizens to vandalize a business if an employee from business does something wrong to them?
    You had a good case until you vandalized the shop and took the law in your hands in front of police.
    This is a positive criticism from me as I do support AAP but that doesn’t mean I support everything that you do.